गुरुवार, 18 मई 2017

Aap Bhi Aaiye Hum Ko Bhi Bulate Rahiye



Aap Bhi Aaiye, Hum Ko Bhi Bulate Rahiye,
Dosti Jurm Nahi, Dost Banate Rahiye,

Jahar Pee Jaaiye Aur Bataaiye Amrit Sabko,
Jakhm Bhi Khaaiye Aur Geet Bhi Gate Rahiye,

Wakt Ne Lut Li Logo Ki Tamannayen Bhi,
Khawab Jo Dekhiye Auro Ko Dikhate Rahiye,

Shakl To Aapke Bhi Jahan Mein Hogi Koi,
Kabhi Ban Jayegi Tasvir, Banaate Rahiye.
Album: SOZ
Singers: Jagjit Singh
Lyricist: Javed Akhtar
आप भी आइये हमको भी बुलाते रहिये
दोस्ती जुर्म नहीं दोस्त बनाते रहिये

ज़हर पी जाइये और बाँटिये अमृत सब को
ज़ख्म भी खाइये और गीत भी गाते रहिये

वक़्त ने लूट लीं लोगों की तमन्नाएँ भी
ख़्वाब जो देखिये औरों को दिखाते रहिये

शक्ल तो आपके भी ज़हन में होगी कोई
कभी बन जाएगी तस्वीर बनाते रहिये
एल्बम: सोज़
गायक: जगजीत सिंह
शायर: जावेद अख़्तर
Watch/Listen on youtube: Pictorial Presentation