सोमवार, 15 मई 2017

Dard Apnaataa Hai Paraaye Kaun



Dard Apnaata Hai Paraaye Kaun
Kaun Sunta Hai Aur Sunaaye Kaun

Kaun Dohraaye Puraani Baten
Gham Abhi Soya Hai Jagaaye Kaun

Wo Jo Apne Hain, Kya Wo Apne Hain
Aur Dukh Jhele, Aazmaayen Kaun

Ab Sukoon Hai To Bhoolne Mein Hai
Lekin Us Shaksh Ko Bhulaaye Kaun

Aaj Fir Dil Hai Kuch Udaas-udaas
Dekhiye Aaj Yaad Aaye Kaun
Album: SILSILAY
Singers: Jagjit Singh
Lyricist: Javed Akhtar
दर्द अपनाता है पराए कौन
कौन सुनता है और सुनाए कौन

कौन दोहराए पुरानी बातें
ग़म अभी सोया है जगाए कौन

वो जो अपने हैं क्या वो अपने हैं
कौन दुख झेले आज़माए कौन

अब सुकूँ है तो भूलने में है
लेकिन उस शख़्स को भुलाए कौन

आज फिर दिल है कुछ उदास उदास
देखिये आज याद आए कौन
एल्बम: सिलसिले
गायक: जगजीत सिंह
शायर: जावेद अख्तर
Watch/Listen on youtube: Pictorial Presentation